9.2 C
London
Monday, March 18, 2024

चीन ने ताइवान के समुद्री तट के पास दागीं 11 मिसाइलें, पांच जापान के इलाके में गिरी

अमरीकी स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से भड़के चीन ने अब ताइवान पर मिसाइलें गिरानी शुरू कर दी है। ताइवान के आस-पास छह इलाकों में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने आज से अपना सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है। दूसरी ओर चीन ने ताइवान के समुद्री इलाके को निशाना बनाते हुए 11 बैलिस्टिक मिसाइलें दागी। इन 11 में पांच जापान के क्षेत्र में गिरी है। जिसका जापान के रक्षा मंत्री ने विरोध दर्ज कराया है।

चीन के मिलाइल अटैक की पुष्टि करते हुए ताइवान के रक्षा मंत्रालय के बताया कि पीएलए ने ताइवान के उत्तर-पूर्व और दक्षिण पश्चिमी तट के पास 11 डोंगफेंग बैलिस्टिक मिसाइलें दागी। ताइवान की ओर से कहा गया कि हम जंग नहीं चाहते हैं, लेकिन कोई हम पर आक्रमण करेगा तो हम भी चुप नहीं बैठेगे। इधर दोनों देशों के बीच बढ़े तनाव को लेकर ताइवान आने-जाने वाली करीब 50 इंटरनेशनल फ्लाइट्स को कैंसल कर दिया गया है। इससे पहले बुधवार को ताइवान के एयर जोन में चीन के 27 लड़ाकू विमान देखे गए थे।

चीन द्वारा ताइवान को निशाना बनाकर गुरुवार को दागी गई 11 बैलिस्टिक मिसाइलों में पांच जापान के एक्सक्लूसिव इकोनॉमिक जोन में गिरी। इस बात की पुष्टि जापान सरकार ने की है। जापान के रक्षा मंत्री नोबुओ किशी ने बताया कि चीन के इस हरकत का डिप्लोमौटिक चैनल के जरिए विरोध दर्ज कराया गया है। जापान के डिफेंस मिनिस्टर ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है जब चीन की बैलिस्टिक मिसाइलें जापान के क्षेत्र में गिरी।
बताते चले कि चीन ने पहले कहा था कि ताइपे अमरीकी हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी की मेजबानी के लिए एक बड़ी कीमत चुकाएगा। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी सेना के ईस्टर्न थिएटर कमांड ने एक बयान में कहा कि ताइवान के पूर्वी हिस्से में समुद्र में कई मिसाइलें दागी गई हैं, जिसमें कहा गया है कि सभी मिसाइलों ने अपने लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाया।
सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार कि पूरे लाइव-फायर प्रशिक्षण मिशन को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है और प्रासंगिक वायु और समुद्री क्षेत्र नियंत्रण अब हटा लिया गया है। इससे पहले, ईस्टर्न थिएटर कमांड ने कहा कि उसने ताइवान जलडमरूमध्य में लंबी दूरी की, लाइव-फायर प्रशिक्षण आयोजित किया था, राज्य प्रसारक सीसीटीवी ने कहा कि द्वीप के चारों ओर नियोजित सैन्य अभ्यास के हिस्से के रूप इसे किया गया।
इधर ताइवान ने बताया कि चीनी लंबी दूरी के रॉकेट मात्सु, वुकिउ और डोंगयिन के द्वीपों के पास गिरे थे, जो ताइवान जलडमरूमध्य में हैं, लेकिन ताइवान के मुख्य द्वीप की तुलना में चीनी मुख्य भूमि के करीब स्थित हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को ताइपे से अमेरिका की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी के जाने के कुछ घंटों के भीतर, द्वीप के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीन ने ताइवान जलडमरूमध्य में मध्य रेखा के पार 20 से अधिक लड़ाकू जेट भेजे, जो मुख्य भूमि चीन और ताइवान के बीच का मध्य बिंदु है। इधर इस पूरे घटनाक्रम पर अमरीका अपनी नजरें बनाए है। अमरीकी पोत ताइवान के समुद्री तट के पास खड़े हैं।
spot_img
spot_img
Manish Kashyap
Manish Kashyap
हमारा उद्देश्य देश, प्रदेश की हर ताजा खबर सत्यता के साथ सबसे तेज सबसे पहले आप तक पहुंचाना है।
Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here