3.8 C
London
Saturday, February 24, 2024

पाकिस्तान के अनुरोध के बावजूद चीन ने नहीं दिया साथ, बताया- क्यों पाकिस्तान BRICS के लायक नहीं

BRICS Summit: चीन और भारत ने मिलक BRICS सम्मेलन में शामिल होने के पाकिस्तान के सपने पर पानी फेर दिया। पहले भारत ने रोक लगाई फिर पाकिस्तान के सदाबहार दोस्‍त चीन ने भी इसपर अपनी सहमति व्यक्त कर बड़ा झटका दिया है।

चीन ने 24 जून को ‘वैश्विक विकास पर हाई लेवल की वार्ता’ (HLDGD) की मेजबानी की। ये वार्ता ब्रिक्स सम्मेलन का हिस्सा था जिसकी मेजबानी स्वयं चीन कर रहा था। इस सम्मेलन का हिस्सा कई गैर-ब्रिक्स देश भी बने सिवाये एक देश के जो भारत को इसके लिए कोस रहा है। इस देश का नाम है पाकिस्तान, जो भारत को कोसने के बाद चीन की ओर बड़ी उम्मीदों से देख रहा था। इसके बावजूद भारत ने एक स्मार्ट दांव चलते हुए चीन को भी अपने पक्ष में कर लिया और पाकिस्तान खड़ा देखता रह गया। कई प्रयासों के बावजूद खुद चीन ने भारत के इस कदम का समर्थन किया और बताया कि क्यों पाकिस्तान इसमें शामिल होने के लायक नहीं है। इससे बड़ा झटका पाकिस्तान के लिए और क्या हो सकता है कि उसका परम मित्र ही उसे आईना दिखाए।

दरअसल, इस बार चीन ने वर्चुअल माध्यम से ब्रिक्स सम्मेलन की मेजबानी की थी जिसमें BRICS देशों ((ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के अलावा ईरान,अल्जीरिया, कंबोडिया, थाईलैंड, मिस्र, फिजी, मलेशिया और इंडोनेशिया जैसे गैर-ब्रिक्स देश भी शामिल हुए थे। इस लिस्ट में पाकिस्तान को भी शामिल होने के लिए न्योता दिया जाना था, लेकिन भारत ने इसपर अड़ंगा लगा दिया।

BRICS में शामिल होने के लायक नहीं पाकिस्तान


अब चीन ने भी भारत के इस रुख का समर्थन किया है और उसका मानना है कि ब्रिक्स सम्मेलन में विकासशील/उभरती अर्थव्यवस्थाओं को शामिल किया गया था और पाकिस्तान इसमें फिट नहीं बैठता है। पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था भी श्रीलंका की तरह जूझ रही है। उसके पास इतने पैसे नहीं है कि अपना कर्ज भी चुका सके। वो भी अपनी अर्थव्यवस्था को स्थिर करने के लिए बेल आउट पैकेज से उम्मीद लगाए बैठा है।

भारत की कूटनीतिक जीत


ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से पहले चीन में मौजूद भारतीय राजदूत ने कई द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की थी। इसके बाद ही चीन के रुख में बदलाव देखने को मिला और इसे भारत की कूटनीतिक जीत बताई कहा जा रहा है। ऐसे में पाकिस्तान के प्रयास के बावजूद स्पष्ट हो गया कि चीन भी भारत के रुख से सहमति रखता है।

Avatar photo
Manish Kashyap
हमारा उद्देश्य देश, प्रदेश की हर ताजा खबर सत्यता के साथ सबसे तेज सबसे पहले आप तक पहुंचाना है।
Latest news

बड़ी खबर:कल होगी धामी कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक, हो सकते है ये बड़े फैसले

देहरादून।उत्तराखंड में कल कैबिनेट बैठक होने वाली है.... बताया जा रहा है कि इस बैठक में कई बड़े फैसले हो सकते है... ये बैठक...

उत्तराखण्ड: सरकार ने बिल्डरों पर लगाया लगाम, अब मालिकों के मर्जी के बिना नहीं बदलेगा नक्शा जारी हुए यह नए नियम

देहरादून।हाउसिंग प्रोजेक्टों के निर्माण के दौरान बिल्डर मनमानी करते हुए नक्शे में बदलाव कर रहे हैं। इस संबंध में शासन ने प्राधिकरणों को चेताया...

लघु व्यापार मंडल ट्रांजिट कैंप की ओर से आज फुटबॉल मैदान में सातवां सामूहिक विवाह का हुआ आयोजन, सर्वव्यवस्था प्रमुख भारत भूषण चुघ ने...

रुद्रपुर -लघु व्यापार मंडल ट्रांजिट कैंप की ओर से आज फुटबॉल मैदान में सातवां सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया। जिसमें तमाम साधु संतों और...

VIP नंबरों को खरीदने की होड़ मैं दिखा 0001 का जलवा, 7 लाख 22 हजार मैं हुआ नीलम

देहरादून।आरटीओ में यूके 07 एफआर सीरीज खुली। इस सीरीज के वीआईपी नंबर लेने के लिए लोगों ने दिल खोलकर बोली लगाई है। आरटीओ प्रशासन...
Related news

बड़ी खबर:कल होगी धामी कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक, हो सकते है ये बड़े फैसले

देहरादून।उत्तराखंड में कल कैबिनेट बैठक होने वाली है.... बताया जा रहा है कि इस बैठक में कई बड़े फैसले हो सकते है... ये बैठक...

उत्तराखण्ड: सरकार ने बिल्डरों पर लगाया लगाम, अब मालिकों के मर्जी के बिना नहीं बदलेगा नक्शा जारी हुए यह नए नियम

देहरादून।हाउसिंग प्रोजेक्टों के निर्माण के दौरान बिल्डर मनमानी करते हुए नक्शे में बदलाव कर रहे हैं। इस संबंध में शासन ने प्राधिकरणों को चेताया...

लघु व्यापार मंडल ट्रांजिट कैंप की ओर से आज फुटबॉल मैदान में सातवां सामूहिक विवाह का हुआ आयोजन, सर्वव्यवस्था प्रमुख भारत भूषण चुघ ने...

रुद्रपुर -लघु व्यापार मंडल ट्रांजिट कैंप की ओर से आज फुटबॉल मैदान में सातवां सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया। जिसमें तमाम साधु संतों और...

VIP नंबरों को खरीदने की होड़ मैं दिखा 0001 का जलवा, 7 लाख 22 हजार मैं हुआ नीलम

देहरादून।आरटीओ में यूके 07 एफआर सीरीज खुली। इस सीरीज के वीआईपी नंबर लेने के लिए लोगों ने दिल खोलकर बोली लगाई है। आरटीओ प्रशासन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here